blogid : 14887 postid : 1114013

भारत नहीं, इस देश में है सरस्वती का सबसे ऊँचा और खूबसूरत मंदिर

Posted On: 10 Nov, 2015 Religious में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

सम्भव है कि आपको यह जानकारी हो कि ज्ञान की देवी मानी जाने वाली सरस्वती भारत के अलावा दूसरे देशों में भी पूजी जाती हैं. यह भी आपके ध्यान में आया हो कि देवी सरस्वती का सबसे ऊँचा मंदिर भारत में नहीं है! शायद आपको इस बात पर भी हैरत नहीं हो कि  संसार में वीणाधारिणी का सबसे खूबसूरत मंदिर भारत में नहीं है. अगर ऊपर लिखे तथ्यों को पढ़ आपकी आँखों में विस्मय का भाव उभर रहा है तो नीचे दिये जा रहे विवरण आपके लिये ही लिखी गई है.


1shrineb enzaiten



भारत में ज्ञान की देवी के रूप में जिन चित्रों की पूजा कई वर्षों से की जाती रही है, उसी देवी की पूजा एशियाई देश जापान में भी की जाती है. जापान में सरस्वती के कई मंदिर हैं. सनातन धर्म में पूजे जाने वाले कई देवी-देवताओं जैसे गणेश, इंद्र और लक्ष्मी की पूजा वहाँ वर्षों से की जाती रही है. जापान में उन देवों की भी पूजा की जाती है जिन्हें सनातन धर्म के लोग शायद बिसर चुके हैं.


Read: करीब 5,000 वर्षों से इस दलदली भूमि पर घर बना कर रहते हैं ये लोग


किस नाम से जापान में जानी जाती है सरस्वती?

जापान में सरस्वती बेनज़ायटैन (辯才天) के नाम से जानी जाती है. जापान में देवी बेनज़ायटैन का सम्बन्ध बहने वाली सारी चीजों से है जैसे जल, संगीत, समय, शब्द आदि. जिस तरह सरस्वती के हाथों में वीणा होती है उसी तरह वो अपने हाथों में जापानी वाद्य यंत्र बिवा लिये होती है.


eight armed benzaiten


बेनज़ायटैन (辯才天) के रूप

देवी बेनज़ायटैन (辯才天) या सरस्वती जापान में दो रूपों में पूजी जाती है. एक रूप में उनके आठ हाथ हैं तो पूजी जाने वाली दूसरे रूप में उनके कवल दो हाथें हैं. दो हाथों वाले रूप में वो वीणा जैसी एक जापानी वाद्ययंत्र बिवा धारण किये हुए है.


japansaraswati in


कैसे सरस्वती जापान आई?

माना जाता रहा है कि सरस्वती छठी से आठवीं शताब्दी के बीच जापान आई. वहाँ उनका आगमन चीन के रास्ते हुआ.



saraswatijapanese


सबसे ऊँचा और आकर्षक मंदिर

सरस्वती या बेनज़ायटैन (辯才天) की सबसे ऊँचा और आकर्षक माने जाने वाला मंदिर जापानी शहर ओसाका के बेनटेन्शु में है. तकरीबन सरस्वती की सौ मंदिरों में यह संसार की सबसे ऊँचा और आकर्षक मंदिर है.Next…..


Read more:

भयंकर रक्तपात हुआ था इस भूमि पर, आम के पेड़ से निकलता था खून

मात्र 2 रूपये की फीस में मरीज कराते हैं इनसे अपना इलाज

सात करोड़ की जमीन में हेरा-फेरी करने वाले डीजीपी के इशारे पर खराब हुई इस पुलिसवाले की ज़िंदगी





Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran