blogid : 14887 postid : 927541

वासना का भूखा था यह सम्राट, आज भी जिंदा है इसके 16 मिलियन वंशज

Posted On: 4 Dec, 2015 Infotainment में

Mukesh Kumar

  • SocialTwist Tell-a-Friend

सात सौ साल पहले एक व्यक्ति ने लगभग पूरी पृथ्वी पर अपना साम्राज्य कायम कर लिया था. समूची धरा पर उसने अपने नाम के भय का वातावरण कायम कर दिया जो कई पीढ़ियों तक कायम रहा. अपने जीवनकाल में उसे कई नाम दिये गये जैसे पर्फेक्ट वॉरियर, माइटी मैनस्लेयर आदि. उसे सबसे ज्यादा खुशी तब मिलती जब वह अपने शत्रुओं का पीछा कर उसे शिकस्त देता, उनकी दौलत को लूटता, पराजित योद्धाओं के बंधु-बांधवों को आँसुओं में नहाते देखता और उनकी पत्नी-बेटियों को अपने वक्षस्थल में भींच लेता था. उस मंगोलियन शासक का नाम चंगेज़ खाँ था.


Genghis-Khan

प्रतीकात्मक तस्वीर


20 वर्षों में उसका साम्राज्य रोम के साम्राज्य का दोगुना था. वर्ष 1206 में उसने मंगोलियन जनजाति को एकजुट किया और उनका शासक बना. चंगेज़ खाँ महिलाओं के प्रति आसक्त था. अपने बर्बर अभियान के बाद मंगोलिया का यह शासक अपने सेनापतियों के साथ महिलाओं का निरीक्षण करता था. इसके लिये उसके सामने पराजित योद्धाओं की पत्नियों और बेटियों की परेड करायी जाती थी. चंगेज़ खाँ उँचे रैंक की महिला को पसंद करता था. महिलाओं को वह उसकी छोटी नाक, गोल नितंब, लंबे रेशमी केश, लाल होंठ और मधुर आवाज़ से पसंद करता था.


Read: अंडरवर्ल्ड से जुड़ी एक वेश्या जिसने भारतीय प्रधानमंत्री के सामने बैठ उन्हें शादी का दिया प्रस्ताव


Ghengis Khan

उसके बंधकों को बाँध कर भारी लकड़ी से बने प्लेटफॉर्म पर लिटा दिया जाता था. वहाँ अपने सेनापतियों के साथ मिलकर वह जश्न मनाता था. जश्न के बाद उन स्त्रियों का चयन किया जाता जिसके साथ उसे हमबिस्तर होना होता था. स्त्रियों की सुंदरता को वह कैरट से मापता था. सुंदरता मापने की इस प्रक्रिया में अगर कोई स्त्री कम आँकी जाती तो वह उसे अपने अधीनस्थ अधिकारियों, सेनापतियों की छावनी में भेज देता था. बाज़ पालना उसका शौक था. उसके पास करीब 800 बाज़ थे.


Read: केंद्रीय विद्यालय से पढ़ी लड़की बनी लेडी डॉन….उसके प्रेम में मंत्री ने गँवाई जान



इतिहास में उसे महान योद्धाओं की श्रेणी में रखा गया है. शोधों से मिले कुछ संकेतों के अनुसार मंगोलिया का चंगेज़ खाँ वह हजारों नहीं तो कम से कम सैकड़ों बच्चों का बाप था. मंगोलिया के सीमाई क्षेत्र में रहने वाली जनसंख्या के टिश्यू के नमूनों की जाँच में रसियन एकेडमी ऑफ साइंसेस ने पाया कि आज भी करीब चंगेज़ खाँ के 1 करोड़ 60 लाख पुरूष वंशज जीवित हैं. वर्ष 1227 में उसकी मौत हो गयी.Next….


Read more:

जब कॉल सेंटर का शौचालय हुआ जाम, निकले कई किलो कंडोम!

सारी उम्र बीत गई 5 पैसे की लड़ाई में…भारतीय न्यायतंत्र की लेटलतीफी का अनोखा मामला

जिस उम्र में लड़कियां मां के आंचल में रहती हैं उस उम्र में इसने कई बार सेक्स किया और 4 बार मां भी बनी




Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran