blogid : 14887 postid : 1128963

यह वायरस ब्राजील में मचा रहा है उत्पात, भारत में भी है सावधानी की जरूरत

Posted On: 7 Jan, 2016 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दशकों बाद ब्राज़ील एक नये तरह के स्वास्थ्य संकट से गुजर रहा है. एक ऐसा संकट जिसके जड़ में विषाणु हैं और जिसके बारे में पूरी जानकारी अभी तक जुटायी नहीं जा सकी है. मच्छरों से फैल रहे विषाणुओं के प्रभाव से वहाँ नवज़ात छोटे सिर के साथ पैदा हो रहे हैं.


zika virus


यह बीमारी उन संक्रमित मच्छरों के काटने से फैलती है जो पीला बुख़ार, डेंगी और चिकुनगुनिया जैसे विषाणुओं को फैलाने की जिम्मेदार होती हैं. संक्रमित माँ से यह नवज़ात में फैलती है. यह ब्लड ट्रांसफ्युजन और यौन सम्बन्धों से भी फैलती है. हालांकि, अब तक यौन सम्बन्धों से इस विषाणु के प्रसार का केवल एक ही मामला सामने आया है.


Read: अपने स्कूल वाले प्यार के लिये आपने भी किया होगा ये सब


इस अनजान बीमारी ने वहाँ भय का ऐसा परिवेश तैयार किया है कि कई गर्भवती महिला मुसीबत में पड़ी हैं. इसे लेकर ब्राज़ील की सरकार को चौतरफा आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. वो भी इसलिये क्योंकि समय रहते ब्राज़ील सरकार कोई कारगर उपाय खोजने में नाकामयाब रही है. दबाव का आलम यह है कि ब्राज़ील की सरकार लोगों को किसी भी तरह मच्छरों के डंक से बचने की सलाह जारी कर रही है. एक सरकारी अधिकारी ने तो यहाँ तक कहा कि मच्छर प्रभावित इलाकों में महिला बच्चे ही पैदा न करें.


birthbrazilian zika


विषाणु को ज़िका नाम दिया गया है जिसके कारण बुख़ार आता है. इस विषाणु का नाम युगांडा के ज़िका जंगल के नाम पर रखा गया है जहाँ उसकी पहचान बंदरों में की गयी थी. ब्राज़ील के सरकारी अधिकारियों ने इस वर्ष इसके करीब 2,782 मामले दर्ज़ किये हैं जो वर्ष 2014 में 147 और उससे पहले 167 थे. इसके प्रभाव के कारण 40 नवज़ातों की मौत हो चुकी है. ब्राज़ील के कुछ शोधकर्ताओं ने चेतावनी जारी की है कि आने वाले माहों में यह कई गुना बढ़ सकती है. इससे प्रकोप से बच जाने वाले बच्चे ताउम्र बुद्धि सम्बन्धी दोषों से जूझते रहेंगे.


viruszika


मच्छरों के काटने के तीन से बारह दिनों के बीच चार में से तीन व्यक्तियों में तेज बुख़ार, रैश, सिर दर्द और जोड़ों में दर्द के लक्षण देखे गये हैं. इसकी रोकथाम के लिये अब तक दवाई नहीं बनी और न ही इसके उपचार का कोई सटीक तरीका सामने आ सका है. अमेरिका की सेंटर्स फॉर डिज़ीज कंट्रोल के अनुसार समूचे विश्व में इस तरह के मच्छरों के पाये जाने के कारण इस विषाणु का प्रसार दूसरे देशों में भी हो सकता है.Next….


Read more:

भूत-प्रेत की वहज से छोड़ा गया था यह गांव, अब पर्यटकों के लिए बना पसंदीदा जगह

एडल्ट साइटों पर ऐसे होती है कमाई

मनचले को सबक सिखाने वाली यह 20 साल की लड़की बनी दूसरों के लिए मिसाल




Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran